ये नेता है सब जानता है

तू लाख करे चतुराई नेता को सब पता है रे भाई “फ्री एंड फेयर इलेक्शन” के सद्वाक्य के पीछे किस कदर तकनीकि कवायद छिपी हैं आमतौर पर मतदाता को नहीं मालूम. लगभग 80 फीसद मतदाताओं के निजी डाटा उनके पास…